सुशांत मैं तुम्हें टेलीस्कोप के जरिए फिरसे देखूंगी- भूमि पेडनेकर

सुशांत मैं तुम्हें टेलीस्कोप के जरिए फिरसे देखूंगी- भूमि पेडनेकर

सुशांत मैं तुम्हें टेलीस्कोप के जरिए फिरसे देखूंगी- भूमि पेडनेकर

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से हर कोई हैरान है। उनकी इस अकस्मात मौत का उनके फैमिली, फैंस और दोस्तों पर बुरा असर पड़ा है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने हर किसी के मन में एक ही सवाल खड़ा कर दिया है। सब इस बात से हैरान हैं कि इतना खुश रहने वाला और बड़े-बड़े सपने देखने वाला इंसान ऐसा कदम कैसे उठा सकता है?

हर कोई सोशल मीडिया पर उनके लिए पोस्ट कर रहा है। सुशांत को गए हुए पॉच दिन हो गए हैं, लेकिन अभी भी लोग उन्हें भूल नहीं पाए हैं। सोशल मीडिया पर सुशांत की तस्वीरें, और पुराने वीडियोज वायरल हो रहें हैं। फैंस कमेंट्स कर लिख रहे हैं कि 'सुशांत वापस आ जाओ।" कोई इस बात को स्वीकार ही नहीं कर पा रहा है कि सुशांत अब हमारे साथ नहीं रहें, अब हमारे साथ केवल उनकी यादें ही रह गई है।

इसी बीच सुशांत को यादकर भूमि पेडनेकर ने सुशांत के लिए एक कविता लिखी है, जो यकीनन आपको इमोशनल कर देगी। भूमि ने लिखा कि यू अचानक तुम्हारा चले जाना बहुत दर्द दे रहा है।

भूमि ने लिखा, "मैं आज सुबह उठी और तुम्हारे बारे में सोच रही थी। मैंने हमारी बातों, तुम्हारी आदतों और मूड के बारे में सोचा। उस समय मुझे तुम्हारे लिए जो दर्द महसूस हुआ उसे बयां भी नहीं कर सकती हूं। जब हम पहली बार मिले थे तुमने मुझे कहा था तुम मुझे तारे दिखाओगे। अपने दिमाग में मैं सोच रही थी, हां कुछ भी। मुझे थोड़ा पता था तुम्हारे कहे शब्द का मतलब होता है। एक बड़ी सी मुस्कान के साथ तुमने हमे एक बड़ा ब्लैक होल, तुम्हारा बेस्टफ्रेंड टेलिस्कोप दिखाया। मैं उस समय ऐसी थी क्या तुम सच मे इसे लेकर आ हो। तुम उत्साह से भरपूर थे। तुम बच्चे की तरह कूद रहे थे। हमे जर्नी पर साथ में ले जाने के लिए। तुम हमे चांद तक लेकर गए और वापिस लाए। मुझे याद है चांद उस दिन लाल था। तुमने हमें शनि, बृहस्पति और एक लाख सितारे दिखाए। तुमने मुझे अपने बाएं हाथ से लिखने की चुनौती दी .....तुमने मुझे दौड़ और क्विज़ के लिए चुनौती दी और इसने मुझे पागल कर दिया ... हमने वान गाग, गौड़ी और डेसकार्टेस की बात की। हमने पैटर्न को तोड़ने और कुछ नया बनाने की बातें की। हमने सिद्धांतों, सफलता और जीवन की बात की। हमारे बीच बहस और कई झगड़े हुए। हमने बीथोवेन और मोजार्ट की बात सुनी, हमने एल्गोरिदम और चार्ट के माध्यम से उनके म्यूजिक को समझने की कोशिश की। तुमने आर्ट से न्यूटन के सिद्धांतों को एक्सप्लेन करने की कोशिश की। ठीक वैसे ही, एक को-स्टार से तुम एक टीचर बन गए।"

भूमि ने आगे लिखा, "तुमने मुझे एक इनवेस्टिगेटर में बदल दिया, अपने किताब और कलम के साथ तैयार, क्लास शुरू होने का इंतजार करती थी। मेरे द्वारा तुमसे सभी प्रश्न पूछने पर तुम्हारी एक्साइटमेंट मुझे याद है, तुमसे उन सबका उत्तर मिलना इतना आसान नहीं था, क्योंकि तुम उसे भी एक लर्निंग टास्क में बदल देतें थे। मेरे दोस्त तुमने मुझे जीवन भर का अनुभव दिया है। मुझे पता है कि तुम देख सकते हो कि दुनिया तुम्हारे लिए कितनी दुखी है। हर कोई ये नुकसान महसूस कर रहा है, कई ऐसे मिले जो तुमसे मिले ही नहीं थे। तुम्हारा जीनियस तुम्हारे द्वारा किए गए सभी कार्यों के साथ जीवित रहेगा। और उस टेलिस्कोप के जरिए मैं तुम्हें फिर से स्पॉट करूंगी, यह बहुत आसान होगा- क्योंकि उनमें से तुम सबसे छोटे और सबसे चमकीले होगें। तुम सच में एक डबल स्लिट फोटॉन और एक न्यूट्रॉन स्टार हो। तुम बहुत याद आओगे प्यारे SSR #SushantSinghRajput."

बता दें, भूमि पेडनेकर और सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्म "सोन चिड़िया" में एक साथ काम किया था। इस फिल्म में उनके साथ रणवीर शोरी और मनोज बाजपेयी भी थे। हालांकि इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर बहुत अच्छा कलेक्शन नहीं किया था।

Leave a Comment

OPEN IN APP