मेरे सपने सच हुए, यह किसी दुआ से कम नहीं - राजकुमार राव

मेरे सपने सच हुए, यह किसी दुआ से कम नहीं - राजकुमार राव

मेरे सपने सच हुए, यह किसी दुआ से कम नहीं - राजकुमार राव

न्यूज़ हेल्पलाइन – 20 मार्च 2020

चाहे वह फिल्म “काई पो छे” के गोविन्द पटेल हो  या फिर शाहिद  फिल्म के शाहिद  आज़मी , क्वीन फिल्म का छोटा सा विजय का रोल या फिर फिल्म सिटी लाइट्स का दीपक सिंह, फिल्म ट्रैप्ड का शौर्य हो या न्यूटन का न्यूटन कुमार, राजकुमार राव ने अपने हर रोल से ऑडियंस का दिल जीता है और यहाँ इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनायीं हैं। उन्होंने बॉलीवुड में 10 साल पूरे क्र लिए है और इस मौके पर उन्होंने उन सभी लोगों का धन्यवाद किया जो इस सफर में उनके साथ रहे।

राजकुमार ने अपने ऑन स्क्रीन रोल का एक कोलाज बनाया और लिखा, "इस इंडस्ट्री में मुझे 10 साल हो गए हैं। एक सपना जो मैंने बच्चे के रूप में अपने शहर में देखा था और आज उसको जीना, यह किसी दुआ से कम नहीं हैं। इस के लिए में अपने सभी सह कलाकार, डायरेक्टर्स, प्रोडूसर्स , लेखक और टेक्निशंस को धन्यवाद देता हूँ लेकिन सबसे बड़ा धन्यवाद है आप लोगों का , मेरी ऑडियंस का , विश्व भर के सिनेमा प्रेमियों का , आप लोगों के प्यार और साथ के बिना यह कुछ भी मुमकिन नहीं था। में अपनी कर्म भूमि मुंबई का धन्यवाद करता हूँ। मेरे लिए यह एक छोटी शुरुवात हैं। में हमेशा ही आप लोगों के लिए कुछ नया करने की कोशिश करता रहूँगा और आप लोगों को अपने काम से एंटरटेन करता रहूँगा। "

राजकुमार ने 2010 में राम गोपाल वर्मा की फिल्म रण में एक बहुत छोटा सा रोल निभाया था। उसी साल उसके बाद वह दिबाकर बनर्जी की फिल्म लव सेक्स और धोका में नजर आये थे। बस उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

इन् दस सालो में उन्हें उनके रोल के लिए काफी सराहना मिली हैं।  उन्हें उनकी फिल्म शाहिद के लिए राष्ट्रीय पुरुस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

राजकुमार इसके बाद फिल्म लूडो , रूही अफ़ज़ाना , छलांग और बधाई दो में नजर आने वाले हैं। हम इस प्रतिभाशाली कलाकार को इस इंडस्ट्री में और कई कामयाब सालो के लिए दुआ देते हैं।

Leave a Comment

OPEN IN APP