मैं बस पॉलिटिकल आतंकवाद से डरता हूँ - मनिंदरजीत सिंह बिट्टा

मैं बस पॉलिटिकल आतंकवाद से डरता हूँ - मनिंदरजीत सिंह बिट्टा

मैं बस पॉलिटिकल आतंकवाद से डरता हूँ - मनिंदरजीत सिंह बिट्टा

ऑल इंडिया एंटी टेररिस्ट फ्रंट (आतंकवाद विरोधी मोर्चा) के चेयरमैन मनिंदरजीत सिंह बिट्टा का कहना है कि वे बस पॉलिटिकल आतंकवाद से डरते है।

मनिंदरजीत सिंह बिट्टा का नाम सामने आते ही एक अलग सी छवी दिखने लगती है। पंजाब में जन्मे बिट्टा मात्र 8 वर्ष की उम्र में ही राजनीति में आ गए थे, और कांग्रेस सेवा दल से जुड़ गए। बचपन से ही समाजिक कार्यों मे जुटे मनिंदरजीत सिंह, भगत सिंह से काभी प्रभावित रहे और उन्हीं की तरह जीने का निर्णय किया। बिट्टा पंजाब में बेअंत सिंह की सरकार में मंत्री रह चुके हैं साथ ही वह भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं।

वह अपने फ्रंट के बैनर तले सामाजिक कार्यों में जुड़े रहते हैं। वह मुख्य रूप से शहीद सैनिकों और आतंकवादी घटना में शहीद हुए लोगों के परिवार वालों लिए काम करते हैं। साथ ही वह देश से आतंकवाद के खात्मे के लिए भी तरह-तरह के मुहीम चलाते रहते हैं। इनके समर्थकों का कहना है कि आतंकवादी भी इनसे डरते हैं। कुछ लोग इनके फ्रंट को इनकी सेना तक कहते हैं।

14 जनवरी को मनिंदरजीत सिंह बिट्टा के जीवन पर आधारित बायोपिक फिल्म 'रिलायंस एंटरटेनमेंट' की तरफ से अनाउंस की गयी। इस इवेंट पर जब मनिंदरजीत सिंह बिट्टा  से पूछा गया की आपको बम और गोलियों से डर नहीं लगता ? इस पर मनिंदरजीत सिंह बिट्टा ने कहा, '' मैं डरता हूँ तो सिर्फ पॉलिटिकल आतंकवाद से आप सब ये मत समझना कि ये बस हमारे देश मे है। ये पूरी दुनिया मे है जिसका पब्लिक को पता नहीं है''।

आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए उन्होंने कहा, '' मौत मेरी दोस्त है। मेरे शरीर के आधे हिस्से मे लोहा है। मुझे दर्द भी होता है पर वह मुझे फूलों कि तरह लगती है क्योकि मेरा एक कर्तव्य है राष्ट्र के लिये आतंकवाद के खिलाफ लडना। मैं बम गोलियों से बिलकुल भी नहीं डरता।

पर जो मैने राजनितिक सिस्टम अपने देश की देखि है बचपन से और जो पॉलिटिकल आंतकवाद है हमारे देश मे उस से मैं डरता हूँ। ये उस आतंकवाद से भी ज्यादा खतरनाक है, जो हमें आये दिन दिखती है पर इस पॉलिटिकल आंतकवाद का ना मीडिया को पता है ना पब्लिक इसे  समझ पायी है''।

बेहरहाल इस फिल्म के बनने से देश के नौजवानो तक प्रेरणा देने वाली कहानी पहुंचेगी। आज तक किसी भी फिल्म मे पॉलिटिकल आतंकवाद को नहीं दिखाया गया है। साथ ही  मनिंदरजीत सिंह बिट्टा की इंस्पायरिंग कहानी को  देखना भी दिलचस्प होगा।

Leave a Comment

OPEN IN APP